कम समय में आपको अमीर बना देगी लहसुन की खेती,जानिए लहसुन की उन्नत खेती करने का तरीका

आजकल खेती की तरफ लोग खूब ज्यादा इंटरेस्ट ले रहे हैं क्योंकि खेती में लोगों का रुझान काफी ज्यादा बढ़ने लगा है। आपको बता दें कि खेती-बाड़ी में इसलिए भी लोगों का रुझान बढ़ रहा है क्योंकि लोग खेती करके अमीर बन रहे हैं।

लहसुन एक कंद वाली मसाला फसल है. इसमें एल्सिन नामक तत्व पाया जाता है. इसी वजह से लहसुन से एक खास तरह की गंध आती है और इसका स्वाद तीखा होता है. लहसुन की एक गांठ में कई कलियां पाई जाती हैं. इन्हें साफ कर के कच्चा या पकाकर खाया जाता है. लहसुन का इस्तेमाल मसाले के साथ ही औषधी के रूप में भी किया जाता है. गले और पेट के रोग से निजात पाने के लिए लोग इसका सेवन करते हैं.

कम समय में आपको अमीर बना देगी लहसुन की खेती,जानिए लहसुन की उन्नत खेती करने का तरीका

कम समय में आपको अमीर बना देगी लहसुन की खेती,जानिए लहसुन की उन्नत खेती करने का तरीका

इन रोगों में होता है इस्तेमाल
इसका उपयोग आचार, सब्जी, चटनी और मसाले के रूप में किया जाता है. हाई ब्लड प्रेशर, पेट रोग, पाचन संबंधी समस्या, फेफड़ा संबंधी समस्या, कैंसर, गठिया की बीमारी, नपुंसकता और खून की बीमारी के लिए भी लहसुन का इस्तेमाल किया जाता है. यह एंटी बैक्टिरिया तथा एंटी कैंसर गुणों के कारण बीमारियों में प्रयोग में लाया जाता है.

कम समय में आपको अमीर बना देगी लहसुन की खेती,जानिए लहसुन की उन्नत खेती करने का तरीका

आज के समय में लहसुन सिर्फ मसालों तक ही सीमित नहीं रह गया है. अब प्रोसेसिंग कर पाउडर, पेस्ट और चिप्स सहित तमाम प्रोडक्ट तैयार किए जा रहे हैं, जिससे किसानों को अधिक लाभ हो रहा है.

Also Read:Mp News: आप अगर कर रहे है महाकालेश्वर मंदिर जाने की तैयारी, तो जान ले यह जरूरी नियम, वरना होंगी परेशानी

ऐसे करें खेत की तैयारी
लहसुन की खेती करने के लिए किसान भाई पहले खेत की दो से तीन बार अच्छे से जुताई करा लें. इसके बाद इसमें अच्छी मात्रा में खाद डालें. एक हेक्टेयर खेत में 100 किलो ग्राम नाइट्रोजन, 50 किलो फास्फोरस, पोटाश और सल्फर का प्रयोग करें. 100 किलो नाइट्रोजन एक ही बार खेत में नहीं डालना है. लगाते समय 35 किलो, लगाने के 30 दिन बाद 35 किलो और 45 दिन बाद 30 किलो प्रति हेक्टेयर के हिसाब से इस्तेमाल करें.

लहसुन लगाने की विधि
खेत तैयार करने और खाद डालने के बाद लहसुन लगाने की बारी आती है. लहसुन लगाते समय कतार से कतार की दूरी 15 सेंटी मीटर रखनी चाहिए. वहीं पौधे से पौधे की दूरी 10 सेंटी मीटर रखने से पैदावार अच्छी होती है लगाने के बाद ही किसान भाई खर पतवार नियंत्रण करने की व्यवस्था कर दें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *