Foods Avoid In Pregnancy : गर्भवती महिलाओं को भूलकर भी कच्ची नहीं खाना चाहिए ये चीजें, वरना हो सकती है बड़ी समस्या

Foods Avoid In Pregnancy : गर्भवती महिलाओं को भूलकर भी कच्ची नहीं खाना चाहिए ये चीजें, वरना हो सकती है बड़ी समस्या,गर्भवती महिलाओं को भूलकर भी कच्ची नहीं खाना चाहिए ये चीजें, वरना हो सकती है बड़ी समस्या, गर्भावस्था के दौरान डाइट में कम पकी या कच्ची चीजें शामिल ना करें। प्रेगनेंसी में खान-पान का बहुत ध्यान रखने की जरूरत होती है। आप खाने में जो भी खाते-पीते हैं उसका सीधा असर आपकी सेहत और बच्चे के स्वास्थ्य पर पड़ता है।

इसीलिए डॉक्टर्स और एक्सपर्ट्स काफी सोच-समझकर चीजें खाने की सलाह देते हैं। गर्भावस्था के दौरान कच्ची चीजों का सेवन करने से बचना चाहिए। कई बार बिना पकी या अधपकी चीजें खाने से पेट खराब, उट्टी या फिर डाइजेशन से जुड़ी समस्याएं पैदा हो सकती हैं। इसलिए बिना पकाए हुए खाने से गर्भावस्था में बचना चाहिए। चलिए जानते हैं प्रेगनेंसी में कौन सी चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए।

Foods Avoid In Pregnancy : गर्भवती महिलाओं को भूलकर भी कच्ची नहीं खाना चाहिए ये चीजें, वरना हो सकती है बड़ी समस्या

यह भी पढ़े Hero Splendor Pro Xtec: Hero की नई बाइक लॉन्च होते ही मार्केट में मचाई सनसनी, तगड़ी माइलेज के साथ…

कच्चे अंडे

कुछ लोग कच्चे अंडे का सेवन करते हैं, लेकिन गर्भवती महिलाओं को कच्चे अंडे खाने से बचना चाहिए। इनमें साल्मोनेला बैक्टीरिया हो सकता है, जिससे दस्त, फूड पॉइजनिंग और उल्टी जैसी समस्याएं पैदा हो सकती हैं।

कच्चा मीट

खाने से पहले मीट को अच्छी तरह से पकाया जाना चाहिए। कच्चा या अधपके मीट में सूक्ष्मजीव होते हैं जो गर्भवती महिलाओं के लिए खतरनाक हो सकते हैं और यहां तक ​​कि प्रोसेस्ड मीट भी कई बीमारियों को पैदा कर सकता है।

कच्चा स्प्राउट्स

गर्भवती महिलाओं को कच्चे स्प्राउट्स का सेवन करने से बचना चाहिए। स्प्राउट्स में शामिल बैक्टीरिया सेहत को नुकसान पहुंचा सकते हैं। कच्चे अंकुर गर्म और ह्यूमिड वाले वातावरण में पनपते हैं। यह खतरनाक बैक्टीरिया गर्भावस्था में नुकसान पहुंचा सकते हैं।

कच्ची मछली

गर्भावस्था के दौरान अधपकी मछली भी खाना हानिकारक हो सकता है। इस तरह के सी फूड्स में बैक्टीरिया और अन्य सूक्ष्मजीव पैदा होने लगते हैं, जो कई बीमारियों का कारण बन सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *