Gehu MSP Rate: किसानो की ख़ुशी का नहीं रहेगा ठिकाना सरकार ने बढ़ाई MSP, एक अप्रैल से शुरू होगी खरीद, जानिए

Gehu MSP Rate: किसानो की ख़ुशी का नहीं रहेगा ठिकाना सरकार ने बढ़ाई MSP, एक अप्रैल से शुरू होगी खरीद, जानिए,उत्तराखंड के किसानों को इस साल गेहूं बेचने से ज्यादा मुनाफा होगा। राज्य सरकार ने गेहूं का समर्थन मूल्य 150 रुपये बढ़ाकर 2125 रुपये से 2275 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया है. इससे किसानों की आय बढ़ेगी और उन्हें गेहूं का उचित मूल्य मिलेगा।

गेहूं की खरीद एक अप्रैल से शुरू हो रही है

गेहूं खरीद का काम 1 अप्रैल से शुरू होगा और जून तक चलेगा. इस दौरान सरकार ने 50 हजार मीट्रिक टन गेहूं कटाई का लक्ष्य रखा था. इस उद्देश्य से सरकार ने जगह-जगह शॉपिंग मॉल बनाये हैं। खरीदी केन्द्रों में आधुनिक गेहूँ गुणवत्ता नियंत्रण मशीनें लगाई गई हैं। गेहूं खरीद में निष्पक्षता और पारदर्शिता को ध्यान में रखते हुए सरकार ने एक ऑनलाइन पोर्टल भी लॉन्च किया है। किसान इस पोर्टल पर पंजीकरण कर अपनी फसल खरीदने का अनुरोध कर सकते हैं।

Gehu MSP Rate: किसानो की ख़ुशी का नहीं रहेगा ठिकाना सरकार ने बढ़ाई MSP, एक अप्रैल से शुरू होगी खरीद, जानिए

फसल की बिक्री के 72 घंटे के भीतर भुगतान

खाद्य आपूर्ति मंत्री रेखा आर्य ने शुक्रवार को मंत्रालय की बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिया कि किसानों को फसल की बिक्री के 72 घंटे के भीतर भुगतान किया जाना चाहिए। इसके लिए अधिकारियों को फसल प्रमाण पत्र, चेक, बैंक खाता और आधार कार्ड की जानकारी जुटाने का निर्देश दिया गया है. इस तरह, किसानों को भुगतान में देरी नहीं होगी और पैसा सीधे उनके बैंक खाते में मिलेगा।

यह भी पढ़िए: जीजा साली को क्यों कहता है आधी घर वाली मिल गया जवाब आखिर क्या है इसका गहरा राज, जानिए

गेहूं खरीद में सरकार का उद्देश्य

सरकार का लक्ष्य गेहूं खरीद में किसानों को उनकी मेहनत का पूरा फल देना है। इससे किसानों का आत्मविश्वास बढ़ेगा और वे अधिक उत्पादन के लिए प्रेरित होंगे। साथ ही गेहूं की खरीद से राज्य की खाद्य सुरक्षा भी मजबूत होगी. सरकार ने गेहूं खरीद के लिए विशेष व्यवस्था बनाई है, जिसमें किसानों को अन्य लाभ भी मिलते हैं। उनमें से कुछ हैं:

किसानों को गेहूं परिवहन का भी भुगतान करना होगा।

गेहूं खरीदते समय किसानों को गुणवत्ता प्रीमियम भी मिलेगा।

किसानों को गेहूं की खरीद पर अतिरिक्त बोनस भी मिलेगा, जो केंद्र सरकार की एमएसपी से 50 रुपये ज्यादा होगा.

ऐसे में सरकार ने गेहूं खरीद में किसानों को हरसंभव सहायता देने का वादा किया है।

इससे किसानों का जीवन सुधरेगा और राज्य का विकास होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *