Tuesday, November 28, 2023
Homeआज की खबरKitchen Vastu Tips 2023 : भूलकर भी न करे ये काम नहीं...

Kitchen Vastu Tips 2023 : भूलकर भी न करे ये काम नहीं तो आमदनी नहीं आएंगी घर में ,इस बर्तन को न रखे उल्टा

Kitchen Vastu Tips 2023 :

रसोई हर घर का दिल होती है, जहां पोषण और भोजन प्यार और देखभाल से तैयार किया जाता है। वास्तुकला और डिजाइन के प्राचीन भारतीय विज्ञान वास्तु शास्त्र में रसोई का बहुत महत्व है। ऐसा माना जाता है कि रसोई में मौजूद ऊर्जाएं घर की समग्र समृद्धि और खुशहाली को प्रभावित कर सकती हैं। अपने घर में सकारात्मक ऊर्जा का दोहन करने और सद्भाव को बढ़ावा देने के लिए, अपनी रसोई में वास्तु सिद्धांतों का पालन करना आवश्यक है। इस लेख में, हम कुछ महत्वपूर्ण रसोई वास्तु युक्तियों का पता लगाएंगे, जिनमें सामान्य गलतियों से बचना शामिल है जो सकारात्मक ऊर्जा और समृद्धि के प्रवाह में बाधा डाल सकती हैं।

1. रसोई स्थान:

वास्तु में, रसोई के लिए आदर्श स्थान घर का दक्षिण-पूर्व कोना है। यह दिशा अग्नि तत्व से संबंधित है, जो इसे खाना पकाने की गतिविधियों के लिए उपयुक्त बनाती है। रसोईघर को उत्तर या उत्तर-पूर्व कोने में रखने से बचें, क्योंकि ऐसा माना जाता है कि इससे वित्तीय अस्थिरता और स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं आती हैं।

Kitchen Vastu Tips 2023
Kitchen Vastu Tips 2023 : भूलकर भी न करे ये काम नहीं तो आमदनी नहीं आएंगी घर में ,इस बर्तन को न रखे उल्टा

2. स्टोव प्लेसमेंट:

चूल्हा रसोई का हृदय है, जो धन की देवी अन्नपूर्णा का प्रतिनिधित्व करता है। सुनिश्चित करें कि स्टोव रसोई के दक्षिण-पूर्व कोने में स्थित है, और खाना बनाते समय उगते सूरज का आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए उसका मुख पूर्व की ओर हो। स्टोव को खिड़कियों के पास या बीम के नीचे रखने से बचें, क्योंकि इससे सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बाधित हो सकता है।

3. रसोईघर में अँधेरा न रखें:

वास्तु में अच्छी रोशनी वाली रसोई जरूरी है। प्राकृतिक रोशनी शुभ मानी जाती है, इसलिए कोशिश करें कि घर में खिड़कियाँ शामिल हों या पर्याप्त रोशनी उपलब्ध हो। ऐसा माना जाता है कि रसोई में अंधेरा नकारात्मक ऊर्जा को आकर्षित करता है और समृद्धि में बाधा डालता है।

4. उचित वेंटिलेशन:

रसोई में स्वस्थ और सौहार्दपूर्ण वातावरण बनाए रखने के लिए उचित वेंटिलेशन महत्वपूर्ण है। अच्छा वेंटिलेशन यह सुनिश्चित करता है कि धुआं और दुर्गंध कुशलतापूर्वक दूर हो जाएं, जिससे सकारात्मक ऊर्जा प्रवाह को बढ़ावा मिले। बंद या कम हवादार रसोई में खाना पकाने से बचें।

5. टूटे हुए या अप्रयुक्त बर्तन न र

वास्तु के अनुसार रसोईघर में टूटे-फूटे या बेकार बर्तन रखना वर्जित है। ऐसा माना जाता है कि यह ठहराव का प्रतीक है और सकारात्मक ऊर्जा के प्रवाह में बाधा उत्पन्न कर सकता है। अपनी रसोई को नियमित रूप से साफ़ करें और क्षतिग्रस्त या अप्रयुक्त वस्तुओं का निपटान करें।

Kitchen Vastu Tips 2023 : भूलकर भी न करे ये काम नहीं तो आमदनी नहीं आएंगी घर में ,इस बर्तन को न रखे उल्टा

6. रसोई में कूड़ादान और कूड़ा न रखें:

रसोई एक पवित्र स्थान है और इसमें साफ-सफाई और स्वच्छता बनाए रखना जरूरी है। रसोई में कूड़ेदान या कूड़ा-कचरा रखने से बचें, क्योंकि ये नकारात्मक ऊर्जा को आकर्षित कर सकते हैं। इसके बजाय, कूड़ेदान को रसोई के बाहर या निर्दिष्ट क्षेत्र में रखें।

7. पानी और गैस को एक साथ संग्रहित न करें:

किचन में पानी और गैस सिलेंडर को एक साथ रखना वास्तु में अशुभ माना जाता है। जल धन का प्रतिनिधित्व करता है, और गैस अग्नि का प्रतिनिधित्व करती है। उन्हें एक साथ रखने से वित्तीय अस्थिरता या संघर्ष हो सकता है। उन्हें अलग और व्यवस्थित रखें.

8. रसोई में कांटे या नुकीली वस्तुएं न रखें:

माना जाता है कि कांटे और नुकीली वस्तुएं नकारात्मक ऊर्जा उत्सर्जित करती हैं। रसोईघर में ऐसी वस्तुएं रखने से बचें, क्योंकि ये कलह और दुर्घटना का कारण बन सकती हैं। चाकू और धारदार बर्तनों को सुरक्षित और व्यवस्थित तरीके से रखें।

9. खाली डिब्बों को उल्टा न रखें:

खाली कंटेनर, विशेष रूप से बर्तन और तवे, को उल्टा करके नहीं रखना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि यह घर में प्रचुरता और समृद्धि के प्रवाह को अवरुद्ध करने का प्रतीक है। सकारात्मक ऊर्जा को मुक्त रूप से प्रवाहित करने के लिए कंटेनरों को दाहिनी ओर ऊपर की ओर रखें।

Kitchen Vastu Tips 2023 : भूलकर भी न करे ये काम नहीं तो आमदनी नहीं आएंगी घर में ,इस बर्तन को न रखे उल्टा

10. रसोई की रंग योजना को नज़रअंदाज न करें:

आपकी रसोई में रंगों का चयन उसके वास्तु पर प्रभाव डाल सकता है। पीला, हरा या सफेद जैसे सुखदायक और हल्के रंग चुनें। ये रंग सकारात्मकता और समृद्धि से जुड़े हैं। गहरे या फीके रंगों से बचें, क्योंकि वे नकारात्मक ऊर्जा को आकर्षित कर सकते हैं अपनी रसोई में वास्तु सिद्धांतों को शामिल करने से एक सामंजस्यपूर्ण और समृद्ध वातावरण बन सकता है। सामान्य गलतियों से बचकर और इन रसोई वास्तु युक्तियों का पालन करके, आप सकारात्मक ऊर्जा का उपयोग कर सकते हैं, कल्याण को बढ़ावा दे सकते हैं, और यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि आपके घर का हृदय प्रचुरता और पोषण का स्थान बना रहे। याद रखें कि वास्तु केवल नियमों का पालन करने के बारे में नहीं है बल्कि एक संतुलित और सकारात्मक वातावरण बनाने के बारे में भी है जहां आप और आपका परिवार खुश रह सकें।

https://twitter.com/WildKitchennet/status/1704412954689720534/phot

यह भी पढ़े :-

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments