June 16, 2024

palak tiwari ने देख कैसे अपने पेट के चर्बी को कम करने का उपाए बतया ,सिर्फ 15 मिन्ट्स में

palak tiwari

palak tiwari :

आज की तेज़-तर्रार दुनिया में, जहाँ समय एक बहुमूल्य वस्तु है, व्यायाम के लिए घंटे समर्पित करने का विचार कठिन और अव्यवहारिक लग सकता है। फिर भी, स्वस्थ जीवन शैली जीना कई लोगों के लिए प्राथमिकता बनी हुई है, और पेट की अतिरिक्त चर्बी कम करने की इच्छा एक सामान्य लक्ष्य है। फिटनेस प्रेमी पलक तिवारी ने 15 मिनट के योग सत्र की परिवर्तनकारी शक्ति की खोज की है। इस ब्लॉग में, हम छोटी, केंद्रित योग दिनचर्या के लाभों का पता लगाते हैं और पेट की चर्बी तेजी से कम करने की आपकी यात्रा में वे कैसे आपकी मदद कर सकते हैं।

पलक तिवारी, एक ऐसा नाम जिसने फिटनेस समुदाय में पहचान हासिल की है, प्रशिक्षकों और शेफ की टीम के साथ कोई पेशेवर योगी या फिटनेस गुरु नहीं है। वास्तव में, वह आपकी और मेरी तरह दैनिक जीवन की माँगों से निपटने वाली एक नियमित व्यक्ति है। संक्षिप्त लेकिन प्रभावी दैनिक योग अभ्यास के प्रति उनकी प्रतिबद्धता उन्हें अलग करती है।

palak tiwari
palak tiwari ने देख कैसे अपने पेट के चर्बी को कम करने का उपाए बतया ,सिर्फ 15 मिन्ट्स में

15 मिनट की योग दिनचर्या

पलक का राज योग के प्रति उनके अनुशासित दृष्टिकोण में छिपा है। वह हर दिन अपने अभ्यास के लिए केवल 15 मिनट समर्पित करती है, और उन आसन और अनुक्रमों पर ध्यान केंद्रित करती है जो विशेष रूप से पेट क्षेत्र को लक्षित करते हैं। उनकी दिनचर्या में आसन (योग मुद्राएं) का संयोजन शामिल है जो मुख्य मांसपेशियों को टोन और मजबूत करने में अपनी प्रभावशीलता के लिए जाने जाते हैं।

छोटे योग सत्रों के लाभ

छोटे योग सत्रों की अवधारणा लंबे, अधिक पारंपरिक अभ्यासों के आदी लोगों के बीच भौंहें चढ़ा सकती है। हालाँकि, ऐसे कई ठोस कारण हैं जिनकी वजह से 15 मिनट की दिनचर्या अत्यधिक प्रभावी हो सकती है, खासकर पेट की चर्बी को लक्षित करते समय:

  1. निरंतरता महत्वपूर्ण है: व्यस्त कार्यक्रम में फिट होने के लिए छोटे सत्र अधिक प्रबंधनीय होते हैं। इससे लगातार अभ्यास बनाए रखना आसान हो जाता है, जो दीर्घकालिक परिणामों के लिए आवश्यक है।
  2. विशिष्ट लक्ष्यों पर ध्यान केंद्रित करें: छोटी दिनचर्या आपको एब्स जैसे चिंता के विशिष्ट क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करने की अनुमति देती है। उदाहरण के लिए, पलक की दिनचर्या में बोट पोज़ (नवासना) और प्लैंक (फलकासन) जैसे पोज़ शामिल हैं जो मुख्य मांसपेशियों को जोड़ते हैं।
  3. बढ़ी हुई तीव्रता: छोटी अवधि अक्सर अधिक गहन व्यायाम की ओर ले जाती है। पूरे सत्र के दौरान उचित रूप और तीव्रता बनाए रखकर, आप अपनी मुख्य मांसपेशियों को प्रभावी ढंग से संलग्न और काम कर सकते हैं।
  4. माइंड-बॉडी कनेक्शन: छोटे व्यायाम दिमागीपन और वर्तमान-क्षण जागरूकता को प्रोत्साहित करते हैं। यह मानसिक ध्यान प्रत्येक मुद्रा की प्रभावशीलता को बढ़ा सकता है और तनाव को कम करने में मदद कर सकता है, जो पेट की चर्बी का एक सामान्य कारण है।
palak tiwari ने देख कैसे अपने पेट के चर्बी को कम करने का उपाए बतया ,सिर्फ 15 मिन्ट्स में

पेट की चर्बी कम करने के लिए प्रभावी योग आसन

आइए उन कुछ योगासनों पर करीब से नज़र डालें जिन्हें पलक तिवारी अपनी 15 मिनट की दिनचर्या में शामिल करती हैं:

  1. बोट पोज़ (नवासन): यह पोज़ पेट की मांसपेशियों को लक्षित करता है, जिससे कोर को टोन और मजबूत करने में मदद मिलती है। यह संतुलन और मुद्रा में भी सुधार करता है।
  2. प्लैंक (फलकासन): प्लैंक पोज़ पूरे कोर को शामिल करता है, जिसमें रेक्टस एब्डोमिनिस, ओब्लिक और पीठ के निचले हिस्से की मांसपेशियां शामिल हैं। यह कोर ताकत के निर्माण के लिए उत्कृष्ट है।
  3. ब्रिज पोज़ (सेतु बंधासन): ब्रिज पोज़ न केवल पेट की मांसपेशियों को मजबूत करता है बल्कि पीठ दर्द को कम करने में भी मदद करता है, जो पेट की अतिरिक्त चर्बी से जुड़ा हो सकता है।
  4. कोबरा पोज़ (भुजंगासन): यह हल्का बैकबेंड रीढ़ की हड्डी के लचीलेपन में सुधार करते हुए पेट की मांसपेशियों को खींचता और मजबूत करता है।
  5. बाल आसन (बालासन): बाल आसन जैसे पुनर्स्थापनात्मक आसन तनाव को दूर करने में मदद करते हैं, जो पेट की चर्बी में योगदान कर सकता है। यह पाचन और विश्राम में भी सहायता करता है।

योग और पेट की चर्बी कम करने के पीछे का विज्ञान

पेट की चर्बी कम करने में योग का प्रभाव शारीरिक दायरे से परे है। अभ्यास में दिमागीपन, सांस नियंत्रण और तनाव में कमी के तत्व शामिल हैं, जो सभी समग्र स्वास्थ्य और वजन प्रबंधन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

  1. तनाव कम करें: लगातार तनाव से वजन बढ़ सकता है, खासकर पेट के आसपास। विश्राम और तनाव कम करने पर योग का ध्यान इस प्रभाव से निपटने में मदद करता है।
  2. पाचन क्रिया में सुधार: योग के कुछ आसन, जैसे कि मुड़ना और आगे की ओर झुकना, पाचन में सहायता कर सकते हैं और सूजन को कम कर सकते हैं, जिससे पेट सपाट हो जाता है।
  3. मेटाबॉलिज्म में सुधार: नियमित योग अभ्यास से मेटाबॉलिज्म को बढ़ावा मिल सकता है, जिससे शरीर को अधिक कुशलता से कैलोरी जलाने में मदद मिलती है और पेट की चर्बी का संचय कम होता है।

पलक तिवारी की बदलाव की कहानी

15 मिनट के योग सत्र के माध्यम से तेजी से पेट की चर्बी कम करने की पलक की यात्रा एक केंद्रित और लगातार अभ्यास की प्रभावशीलता का प्रमाण है। उनकी कहानी उन कई लोगों से मेल खाती है जो व्यस्त जीवनशैली के बावजूद हासिल करने योग्य फिटनेस लक्ष्यों की तलाश में हैं।

https://www.instagram.com/p/CxLoC05o57V/

अपनी 15 मिनट की योग दिनचर्या शुरू करें

यदि आप पलक तिवारी की कहानी से प्रेरित हैं और योग के माध्यम से पेट की चर्बी कम करने की अपनी यात्रा शुरू करने के लिए उत्सुक हैं, तो शुरुआत करने में आपकी मदद के लिए यहां एक सरल मार्गदर्शिका दी गई है:

https://twitter.com/palaktiwarii/status/150734699488465

  1. यथार्थवादी लक्ष्य निर्धारित करें: अपने उद्देश्यों को परिभाषित करें और आप जो हासिल करने की उम्मीद करते हैं उसके बारे में यथार्थवादी बनें। तीव्रता के बजाय स्थिरता

यह भी पढ़े :-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *