Friday, March 1, 2024
HomeदेशPM नरेंद्र मोदी नहीं होंगे राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के मुख्य अतिथि?देखिए...

PM नरेंद्र मोदी नहीं होंगे राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के मुख्य अतिथि?देखिए क्या है बड़ी वजह

देखिए कौन है मुख्य अतिथि,22 जनवरी, 2024 के दिन होने वाले प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के लिए पूरे अयोध्या में जोर-शोर से तैयारियां चल रही हैं। यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी गुरुवार को मंदिर निर्माण कार्य का निरीक्षण किया है। वहीं, अब खबर आ रही है कि सीएम योगी ने 22 जनवरी यानी की प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम वाले दिन अयोध्या में सभी होटल व धर्मशालाओं में एडवांस बुकिंग को कैंसिल करने के निर्देश जारी किए हैं

PM नरेंद्र मोदी नहीं होंगे राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के मुख्य अतिथि?देखिए क्या है बड़ी वजह

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नहीं होंगे मुख्य अतिथि

इसमें क्रिकेटर्स के अलावा फिल्म जगत की हस्तियां और मशहूर कारोबारी शामिल हैं. वहीं इस समारोह के मुख्य अतिथि नहीं होंगे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।

समारोह के संबंध में भी निर्देश

धर्मनगरी अयोध्या में आज संपन्न तैयारी बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा 22 जनवरी 2024 को प्रस्तावित प्राण-प्रतिष्ठा समारोह के संबंध में भी निर्देश दिए गए। उन्होंने निर्देश दिया कि विशिष्ट आयोजन के दृष्टिगत श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट द्वारा आमंत्रित विशिष्ट जनों के प्रवास में स्थानीय प्रशासन द्वारा यथोचित सहयोग किया जाए। 

Read Also: PM Vishwakarma Yojna: बिज़नेस करने के लिए सरकार दे रही है 3 लाख का लोन जानिए कैसे ?

PM नरेंद्र मोदी नहीं होंगे राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के मुख्य अतिथि?देखिए क्या है बड़ी वजह

पीएम मोदी समेत ये होंगे अतिथि

22 जनवरी 2024 को अयोध्या राम मंदिर में होने वाले प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में पीएम मोदी मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होंगे। पीएम के अलावा किसी भी क्षेत्र में देश का सम्मान बढ़ाने वाले सभी प्रमुख लोगों को भी आमंत्रित किया गया है।

Read Also: दादी बनने की उम्र में दुल्हन बनी रेखा,दिल थामकर देखिए पूरी खबर

इसके साथ ही करीब चार हजार सन्तों को आमंत्रण भेजा गया है। सभी शंकराचार्य, महामण्डलेश्वर, सिख और बौद्ध पंथ के शीर्ष सन्तों को बुलावा भेजा गया है। स्वामी नारायण, आर्ट ऑफ लिविंग, गायत्री परिवार, किसान, कला जगत के प्रमुख लोगों को आमंत्रित किया गया है। 1992 से 1984 के बीच सक्रिय पत्रकारों को भी बुलावा भेजा गया है। कारसेवकों के परिजनों को भी निमंत्रण भेजा गया है

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments