June 16, 2024

भगवान विष्णु से शादी करने वाली पूजा सिंह,जानिए क्यों मीरा से तुलना पर है नाराज

भगवान विष्णु से शादी करने वाली पूजा सिंह

भगवान विष्णु से शादी करने वाली पूजा सिंह 30 साल पूजा सिंह ने 8 दिसंबर को जयपुर के मंदिर में भगवान विष्णु से पूरे रीति-रिवाज के साथ शादी की थी. इसी को लेकर वह चर्चोओं में बनी हुई है. इसी के साथ अब उनकी फोटोज भी वायरल हो रही हैं पूजा की वायरल हो रही फोटोज में पूजा एक अलग ही लुक में नजर आ रही हैं. तस्वीरों में पूजा ने एक बंगाली साड़ी पहन रखी है, पूजा इसमें बेहद ही खूबसूरत लग रही हैं. 

भगवान विष्णु से शादी करने वाली पूजा सिंह,जानिए क्यों मीरा से तुलना पर है नाराज

​जयपुर की पूजा सिंह की शादी सुर्खियों में

राजस्थान की राजधानी जयपुर में हुई एक शादी को लेकर देशभर में चर्चा है। यहां 8 दिसंबर को 30 वर्षीय पूजा सिंह ने भगवान विष्णु से शादी रचाई थी। इसके बाद से इस शादी के वीडियो और तस्वीरें लगातार सोशल मीडिया वायरल हो रहे हैं। इसी बीच पूजा सिंह ने एक ऐसी बात कर दी है, जिसने हर किसी को हैरान कर दिया है।

भगवान विष्णु से शादी करने वाली पूजा सिंह,जानिए क्यों मीरा से तुलना पर है नाराज

भगवान विष्णु से शादी कर आईं चर्चा में

असल में पूजा सिंह ने भगवान विष्णु के निराकार तथा विग्रह रूप शालिग्राम के साथ सात फेरे लेने की वजह सोशल मीडिया के जरिए साफ की है। पूजा सिंह ने उनकी शादी हो रही चर्चा और उनकी तुलना भगवान श्रीकृष्ण की अनन्य भक्त मीरा से किए जाने के मामले पर एक इंस्टाग्राम पोस्ट किया है।

Read Also: 50 वर्ष बूढ़े मास्टर और 20 वर्ष की छात्रा का अँधा प्यार, परिजनों के डर से बिना बताये रचाई शादी

भगवान विष्णु से शादी करने वाली पूजा सिंह,जानिए क्यों मीरा से तुलना पर है नाराज

इंस्टा पोस्ट के जरिए बताई भगवान से शादी की वजह

अपने इंस्टा पोस्ट पर पूजा ने लोगों से आग्रह किया कि उसकी तुलना मीरा से नहीं की जाए। पूजा ने यह भी स्वीकार किया कि उन्होंने भगवान से शादी की है, लेकिन इसके पीछे वजह दूसरी है।

समाज के लोगों से मांगी माफी

इंस्टा पोस्ट के जरिए पूजा ने बताया अपनी कुंडली में मंगल दोष दूर करने के लिए यह शादी रचाई है। सोशल मीडिया पर आलोचनाओं के बाद पूजा ने इस मामले में समाज से से भी माफी मांगी है।

भगवान विष्णु से शादी करने वाली पूजा सिंह,जानिए क्यों मीरा से तुलना पर है नाराज

पूजा को भगवान से शादी करने का फैसला उनके पिता को मंजूर नहीं था इसलिए वह शादी में शामिल नहीं हुए. इसी वजह से उनकी मां ने उनका कन्यादान के साथ सभी रस्में निभाई.  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *