Wednesday, February 28, 2024
Homeप्रदेशBhopal News: हॉयर सेकेंडरी से एक नया मामला आया सामने छात्रा ने...

Bhopal News: हॉयर सेकेंडरी से एक नया मामला आया सामने छात्रा ने की बायो की सालभर पढ़ाई और आर्ट्स का आया एडमिट कार्ड

Bhopal News: मध्य प्रदेश के भोपाल माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा जैसे ही बोर्ड परीक्षा की समय सारिणी घोषित की गई और परीक्षा शुरू हुईं, वैसे ही कई लापरवाही के मामले निकल कर सामने आ रहे हैं। ऐसा ही एक मामला जवा तहसील अंतर्गत सितलहा संकुल की शासकीय हायर सेकेण्डरी स्कूल चांदी से आया है। खबर है कि यहां 12वीं की एक छात्रा ने पूरे साल बायोलॉजी की पढ़ाई की।

Bhopal News: हॉयर सेकेंडरी से एक नया मामला आया सामने छात्रा ने की बायो की सालभर पढ़ाई और आर्ट्स का आया एडमिट कार्ड

यहां तक कि त्रमासिक परीक्षा और अर्धवार्षिक परिक् भीषा बायो ग्रुप के विषय की दी थी। लेकिन जब बोर्ड परीक्षा की बारी आई तो छात्रा को विद्यालय ने आर्ट्स ग्रुप का प्रवेश पत्र पकड़ा दिया। जब सालभर बायो की पढ़ाई करके फाइनल बोर्ड परीक्षा के लिए आर्ट्स का एडमिट कार्ड मिला तो यह देख छात्रा के होश उड़ गए। उसकी सालभर की पढ़ाई चौपट हो गई।

इसे भी पढ़िए :- Board Exam: बोर्ड परीक्षा में संचालन की लापरवाही के चलते नर्मदापुरम सहायक पशुचिकित्सा अधिकारी को कलेक्टर ने किया निलंबित

इस मामले को लेकर हमारे संवाददाता ने छात्रा सीमा सेन के पिता विनय सेन, जो बिझवार तहसील जवा में रहते हैं, उनसे बातचीत की। छात्रा के पिता ने बताया कि वह शासकीय हायर सेकंडरी स्कूल चांदी से ही पढ़ाई कर रही थी। 11वीं में आर्ट्स विषय से पढ़ाई कर 12वीं में बायो से पढ़ाई करने के लिए प्राचार्य से निवेदन किया। जहां प्राचार्य ने बायो विषय की 1500 रूपये शुल्क जमा करवाकर बायो की पढ़ाई शुरू करवा दी।

जब बोर्ड परीक्षा का प्रवेश पत्र आया तो वह आर्ट्स विषय का निकला। छात्रा सीमा सेन के पिता ने बताया कि बोर्ड परीक्षा से पहले आर्ट्स का प्रवेश पत्र देखकर छात्रा के होश उड़ गए। जब इसको लेकर प्राचार्य से कारण पूछा तो प्राचार्य ने छात्रा को बताया कि वह आर्ट विषय से ही थी और गोल-मोल जबाब देने लगे। वहीं परीक्षा से वंचित छात्रा काफी सदमे में है और उसने विद्यालय के प्राचार्य पर लापरवाही का आरोप लगाया है। 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments