May 30, 2024

Manipur violence मणिपुर में फिर भड़की हिंसा, 30 से अधिक घर जलाए,CM ने किया बड़ा ऐलान

Manipur violence : मणिपुर में एक बार फिर से हिंसा भड़क गई है और यह मोरे में 30 से ज्यादा घर और दुकान को जला दिया गया है. सुबह से फायरिंग हो रही है एक तरफ आ गजनी हो रही है वहीं दूसरी तरफ सेना के जवानों पर फायरिंग की जा रही है.

भीड़ ने सेना के जवानों के दो गाड़ियों को भी आग के हवाले कर दिया है और अभी तक इस बात पर खबर नहीं है कि इस घटना में कोई हताहत है कि नहीं. मणिपुर के सीएम ने इस बात को लेकर चिंता जताई है वहीं दूसरी तरफ तीन से चार हजार घर बनाने का ऐलान किया गया है.

Manipur violence मणिपुर में फिर भड़की हिंसा, 30 से अधिक घर जलाए

Also Read:MP News:महाकालेश्वर मंदिर में आधार कार्ड से मुफ्त दर्शन की सुविधा, जानिए कितने भक्तों को मिल रहा है लाभ

इस हिंसा में जितने लोगों का घर जल गया है और सर से छत छिन गई है उन्हें नया घर बना कर दिया जाएगा. मणिपुर में लगातार हालात बिगड़ते जा रहे हैं और मणिपुर जल रहा है जिसके चरचे देश विदेश में हो रहे हैं. मणिपुर में हुई घटना का चर्चा भी अंतरराष्ट्रीय मामला बन चुका है.

Manipur violence मणिपुर में फिर भड़की हिंसा, 30 से अधिक घर जलाए

अधिकारियों ने बताया कि स्थानीय लोगों ने मणिपुर की रजिस्ट्रेशन वाली बस को सपोरमीना में रोक लिया और कहा कि वे इस बात की जांच करेंगे कि बस में कहीं दूसरे समुदाय का कोई सदस्य तो नहीं है. अधिकारियों ने बताया कि उनमें से कुछ लोगों ने बसों में आग लगा दी.

 इस बीच, मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने कहा कि इंफाल के सजीवा और थौबल जिले के याइथिबी लोकोल में अस्थायी घरों का निर्माण पूरा होने वाला है. सिंह ने एक ट्वीट कर कहा, ‘बहुत जल्द पीड़ित परिवार राहत शिविरों से इन घरों में जा सकेंगे. राज्य सरकार हाल की हिंसा से प्रभावित लोगों के पुनर्वास के लिए पहाड़ियों और घाटी दोनों में हर संभव उपाय कर रही है.’

बनाए जाएंगे 3-4 हजार घर

मुख्यमंत्री ने पिछले महीने कहा था कि पूर्वोत्तर राज्य में जातीय संघर्ष के कारण अपना घर छोड़ने वाले लोगों के लिए तीन से चार हजार घर बनाएगी. मणिपुर में अनुसूचित जनजाति का दर्जा देने की मेइती समुदाय की मांग के विरोध में पर्वतीय जिलों में तीन मई को आयोजित ‘आदिवासी एकजुटता मार्च’ के दौरान हिंसा भड़कने के बाद से राज्य में अब तक 160 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं और कई अन्य घायल हुए हैं. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *