June 21, 2024

Organic Farming Vs Natural Farming: भारत में जैविक खेती बनाम प्राकृतिक खेती प्रणाली

Organic Farming Vs Natural Farming: भारत में जैविक खेती बनाम प्राकृतिक खेती प्रणाली,भारत में किसान खेती के दो तरीकों जैविक खेती बनाम प्राकृतिक खेती प्रणाली का उपयोग करते हैं। भारत में बहुत से लोग इस बात को लेकर असमंजस में हैं कि जैविक या प्राकृतिक खेती के लिए कौन सी खेती पद्धति अधिक उपयुक्त है। भारत में किसान अधिक पौष्टिक फसलें उगाने के लिए खेती के इन दोनों तरीकों का व्यापक रूप से उपयोग करते हैं।

कुछ उपभोक्ता प्राकृतिक खेती की तुलना में जैविक खेती को प्राथमिकता देते हैं और कुछ उपभोक्ता जैविक खेती की तुलना में प्राकृतिक खेती को पसंद करते हैं। अच्छी फसल उगाने के लिए खेती के ये दोनों तरीके किसानों के लिए बहुत उपयोगी हैं। जैविक खेती मिट्टी की मदद करने और अच्छी फसलें उगाने के लिए परंपरा, विज्ञान और नवाचार के संयोजन का उपयोग करती है।

जैविक खेती प्रणाली क्या है?

जैविक खेती खेती की एक प्रणाली है जिसमें फसल उगाने के लिए नवाचार, विज्ञान और पारंपरिक तरीकों का संयोजन शामिल है। जैविक खेती मिट्टी के स्वास्थ्य को बढ़ाने और कीटों को नियंत्रित करने के लिए पारंपरिक तरीकों का उपयोग करती है। जैविक खेती पद्धति से करने पर किसी भी फसल के उत्पादन में किसी भी प्रकार के सिंथेटिक रसायन का उपयोग नहीं किया जाता है।

इस कृषि पद्धति का उपयोग उपभोक्ताओं के लिए तेजी से और स्वस्थ फसल उगाने के लिए किया जाता है। जैविक खेती पद्धति का उपयोग करने वाले किसान न्यूनतम कीटनाशकों और रसायनों का उपयोग करके मिट्टी के स्वास्थ्य को बढ़ा सकते हैं। यह जैविक खेती पद्धति केवल प्रमाणित रसायनों का उपयोग करके पर्यावरण और मिट्टी के स्वास्थ्य को भी बढ़ाती है।

प्राकृतिक कृषि प्रणाली क्या है?

प्राकृतिक कृषि प्रणाली एक ऐसी प्रणाली है जिसमें किसी भी फसल की खेती के लिए किसी भी प्रकार के कीटनाशक या रसायन का उपयोग नहीं किया जाता है। प्राकृतिक खेती पद्धति फसल पर इस्तेमाल होने वाले सभी रसायनों और कीटनाशकों को पूरी तरह से समाप्त कर देती है।

प्राकृतिक खेती के तरीकों से फसल अपने आप उगाई जाती है, किसान उगने की प्रक्रिया को तेज करने के लिए किसी कीटनाशक का उपयोग नहीं कर सकता है। प्राकृतिक खेती पद्धति से उगाई जाने वाली फसलों को पूरी तरह से विकसित होने में समय लगता है। किसान योजना में कम्पोस्टिंग, कवर क्रॉपिंग और फसल चक्र जैसी विधियों का उपयोग किया जाता है। प्राकृतिक कृषि प्रणाली के तहत उगाई जाने वाली फसलें जैविक कृषि प्रणाली की फसलों की तुलना में अधिक महंगी होती हैं।

Difference Between Organic Vs Natural Farming

Organic FarmingNatural Farming
Zero use of any chemical or pesticides Minimal use of chemicals or pesticides
Natural laws are applied to agricultural activitiesFollows accepted principles and practices
Basic agro practices like ploughing, tilling, and weeding are performedNo ploughing, tilling, and weeding No pesticides, No herbicides, No pruning
Expensive due to the requirement for bulk manureLow-cost Farming method

भारत में खेती का उद्देश्य

भारत में 30% से अधिक नागरिक खेती के काम में लगे हुए हैं। 2023 वित्तीय वर्ष में भारत की जीडीपी का 14% से अधिक हिस्सा किसानों द्वारा उत्पन्न किया गया है। भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा की कमी के कारण, भारत के कई नागरिक खेती के काम में लगे हुए हैं। भारत की अर्थव्यवस्था में कृषि कार्यस्थल की महत्वपूर्ण भूमिका। भारत में खेती में वृद्धि से चावल और गेहूं जैसे खाद्यान्नों के निर्यात में भी वृद्धि होती है, जिससे देश की जीडीपी पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है। खेती भारत के बेरोजगार नागरिकों को रोजगार प्रदान करती है और साथ ही देश की जीडीपी में भी उल्लेखनीय वृद्धि करती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *