June 16, 2024

Trending:बेटियों के लिए इस शख्स ने उठाया बड़ा कदम, जेंडर चेंज करवा कर पिता से बन गए मां, जाने पूरा माजरा

Trending :एक पिता अपने बेटियों के प्यार में किस हद तक गुजर सकता है यह बात आप इस कहानी को पढ़कर जान सकते हैं. आपको बता दें कि एक पिता अपनी बेटी की कस्टडी पाने के लिए अपना जेंडर ही चेंज करा लिया है और यह काम उसने इसलिए किया है ताकि वह अपनी बेटियों के साथ रह सके और अपनी बेटियों को प्यार कर सके और पिता का प्यार दे सके.

अक्षर आपने सुना होगा कि मां-बाप के जितना प्यार इस दुनिया में बच्चों को कोई नहीं कर सकता और यह कहानी इस बात को साबित भी करती है. आपको बता दें कि एक बच्चा अपना जेंडर चेंज कर लेता है और वह अपनी बेटी के साथ रहने के लिए हर हद पार करने को तैयार है.

Trending:बेटियों के लिए इस शख्स ने उठाया बड़ा कदम, जेंडर चेंज करवा कर पिता से बन गए मां, जाने पूरा माजरा

47 साल के रेने सेलिनास रामोस पत्नी से अलग हो चुके हैं. लेकिन वो अभी भी बेटियों की कस्टडी नहीं हासिल कर सके हैं. क्योंकि, इक्वेडोर के कानून के मुताबिक बच्चों की कस्टडी में मां को वरीयता दी जाती है.आपको बता दें कि इस शख्स को लगा कि शायद पिता बनने के बाद उन्हें उनकी बेटियों की कस्टडी नहीं मिलेगी इसलिए वह माता बन गया और कानूनन मां बनने के बाद उसे लगा कि शायद उसे उसकी बेटियों की कस्टडी मिल जाएगी.

Trending:बेटियों के लिए इस शख्स ने उठाया बड़ा कदम, जेंडर चेंज करवा कर पिता से बन गए मां, जाने पूरा माजरा

दस्तावेज में शख्स ने अपनी पहचान महिला के तौर पर करवाई

गौरतलब है कि रामोस ने शारीरिक रूप से जेंडर नहीं बदला है. वो सिर्फ दस्तावेजों में महिला हैं, असल में वो पुरुष ही हैं. इसकी वजह से वह LGBTQ कम्युनिटी से निशाने पर भी आ गए हैं.

LGBTQ कम्युनिटी ने एक बयान में कहा है कि वो इस कदम से ट्रांसजेंडर अधिकारों को बढ़ावा देने के लिए बनाए गए कानून को लेकर चिंतित हैं. भविष्य में इसका गलत उपयोग किया जा सकता है.

Also Read:Crime News: फिर हुई महिला दरिंदगी का शिकार लकवाग्रस्त होने के बावजूद पड़ोसी ने किया ऐसा काम जिसे सुन….

वहीं, एक स्थानीय न्यूज चैनल से बात करते हुए रामोस ने कहा कि वो भी मां की तरह केयर कर सकते हैं. ये गलत धारणा है कि पुरुष बच्चों की देखभाल, महिलाओं से कम कर पाते हैं. रामोस ने आरोप लगाया कि उनकी बेटियां अपनी मां के साथ खराब माहौल में रह रही हैं और उन्होंने बेटियों को पांच महीने से अधिक समय से नहीं देखा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *