May 26, 2024

9 April 2024 Navratri: नवरात्रि शुरू होने से पहले घर से बाहर फेंके ये 5 चीजें

9 April 2024 Navratri

9 April 2024 Navratri

9 April 2024 Navratri: नवरात्रि के पूरे नौ दिन गंगाजल की हर एक बूंद की तरह पवित्र माने जाते हैं। ये शुभ समय भक्तों के जीवन में खुशियों की सौगात लेकर आता है। दोस्तों आपको बता दें दो हजार चौबीस में इस साल माँ दुर्गा हाथी पर नहीं बल्कि घोड़े पर सवार होकर पृथ्वी लोक में पधारेंगी। शास्त्रों में वर्णित है कि तथा मान्यताओं के अनुसार अगर चैत्र नवरात्रि पर ये माता दुर्गा का आगमन उनके वाहन सिंह पर नहीं बल्कि घोड़े पर होगा। तो मान्यता है कि माता दुर्गा का घोड़े पर सवार होकर आना शुभ नहीं माना जाता। इस देश में और राजनीतिक क्षेत्र में उथल-पुथल हो सकती है।

9 April 2024 Navratri: नवरात्रि शुरू होने से पहले घर से बाहर फेंके ये 5 चीजें

दोस्तों इस बार नवरात्रि पूरे नौ दिनों तक मनाई जाएगी ना एक भी दिन कम ना ज्यादा पूरे नौ दिनों तक मनाई जाएगी। माँ शेरोबाली की विशेष रूप से पूजा अर्चना की जाएगी। चैत्र नवरात्रि का महापर्व इस बार दो हजार में नौ अप्रैल दिन मंगलवार से शुरू होकर सत्रह अप्रैल बुधवार के दिन समाप्त होंगे। ऐसे में चैत्र नवरात्रि पर मातादुर्गा की कृपा पाने के लिए कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त है।

9 अप्रैल को सुबह 6:02 बजकर से प्रारंभ है। जो सुबह10:16 मिनट तक रहेगा। यदि आप किसी कारणवश सुबह में कलश स्थापना नहीं कर पाते है तो दोपहर में अभिजीत मुहूर्त में कर सकते है। उस दिन का अभिजीत मुहूर्त 11 बजकर मिनट से 12:38 मिनट तक है मुहूर्त में की गयी पूजा बहुत ही शुभ मानी जाती है

खंडित मूर्तियां
अक्सर खंडित या खराब देवी-देवताओं की मूर्तियां हम घर में किसी कोने में संभाल कर रख लेते हैं। लेकिन वास्तु शास्त्र में इन्हें घर में रखना अशुभ माना गया है। गया है। माना जाता है कि खंडित मूर्तियां घर के सदस्यों के लिए दुर्भाग्य का कारण बनती हंै। ऐसे में इन मूर्तियों नवरात्रि से पहले बहते हुए जल में प्रवाहित कर दें।

फटे-पुराने जूत-चप्पल और कपड़े भी
नवरात्रि से पहले मां दुर्गा के स्वागत के लिए घरों-दुकानों या अन्य भवनों की साफ-सफाई की जाती है। ऐसे में घरों की सफाई के दौरान घर में रखे फटे-पुराने कपड़े और जूते-चप्पलों को घर से बाहर निकाल दें। घर में इस तरह की चीजें नेगेटिविटी बढ़ाती हैं।

बंद घड़ी
वास्तु में कहा गया है कि बंद घड़ी दुर्भाग्य का प्रतीक होती है। ऐसे में नवरात्रि में मां के आगमन से पहले बंद या खराब घड़ी को भी बाहर निकाल दें। फिर किसी कबाड़ी को दे दें। ऐसी चीजें तरक्की में बाधा बनती हैं। वहीं माना यह भी जाता है कि बंद घड़ी घर में रखने से बुरा वक्त कोई नहीं टाल सकता।

खराब खाना
घर के साथ किचन की सफाई भी महत्वपूर्ण है। ऐसे में रसोई में कोई भी खराब चीज या खाने का पुराना सामाना आदि रखा है तो उसे नवरात्रि से पहले ही घर से बाहर का रास्ता दिखा दें। घर में खाने-पीने की खराब चीजें मां दुर्गा को क्रोधित कर सकती हैं। वो आपसे रूठ सकती हैं। इन चीजों से घर में नेगेटिविटी आती है और मां दुर्गा आपके घर में आकर भी बिना आशीर्वाद दिए ही लौट जाती हैं।

प्याज और लहसुन
माना जाता है कि चैत्र नवरात्रि में मां दुर्गा 9 दिन तक धरती पर ही भ्रमण करती हैं। इन 9 दिनों में मां भक्तों के घर में भी आती हैं और खुश होने पर आशीर्वाद देकर जाती हैं। इसीलिए घर का वातावरण और घर दोनों का शुद्ध होना जरूरी माना गया है। नवरात्रि से पहले सफाई के दौरान रसोई से प्याज और लहसुन, अंडा, मांस, मदिरा आदि भी घर से बाहर निकाल दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *