बच्चों का मोबाइल फोन का अत्यधिक उपयोग: एक खतरनाक लत

बच्चों का मोबाइल फोन का अत्यधिक उपयोग: एक खतरनाक लत

बच्चों का मोबाइल फोन का अत्यधिक उपयोग: एक खतरनाक लत

बच्चों का मोबाइल फोन का अत्यधिक उपयोग: एक खतरनाक लत

बच्चों का मोबाइल फोन का अत्यधिक उपयोग: एक खतरनाक लत आजकल, बड़ों से लेकर बच्चों तक, मोबाइल फोन का इस्तेमाल एक आम बात हो गई है। छोटे बच्चे भी मोबाइल फोन में वीडियो देखने में अपना समय व्यतीत करते हैं। कई माता-पिता बच्चों को चुप कराने, उन्हें व्यस्त रखने या खाना खिलाने के लिए उन्हें फोन दे देते हैं।यह बढ़ता स्क्रीन टाइम बच्चों के शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव डाल रहा है।

यमुना विहार (दिल्ली) में जिविशा क्लिनिक के बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. अंकित गुप्ता ने इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट शेयर करके बताया कि ज्यादा मोबाइल फोन का इस्तेमाल बच्चों पर किस तरह से नकारात्मक प्रभाव डाल रहा है।

डॉ. गुप्ता के अनुसार, मोबाइल फोन का अत्यधिक उपयोग बच्चों में निम्नलिखित समस्याएं पैदा कर सकता है:

शारीरिक समस्याएं:

  • नींद में कमी: नीली रोशनी मेलाटोनिन के उत्पादन को कम करती है, जो नींद के लिए आवश्यक हार्मोन है।
  • मोटापा: शारीरिक गतिविधि में कमी और अधिक स्क्रीन टाइम मोटापे का कारण बन सकता है।
  • आंखों की समस्याएं: स्क्रीन को लगातार देखने से आंखों में थकान, सूखापन और धुंधली दृष्टि हो सकती है।
  • विकासात्मक देरी: मोबाइल फोन का अत्यधिक उपयोग बच्चों के सामाजिक, भावनात्मक और संज्ञानात्मक विकास में देरी कर सकता है।

मानसिक समस्याएं:

  • एकाग्रता में कमी: मोबाइल फोन बच्चों का ध्यान भंग कर सकता है और उन्हें एकाग्रता में कमी का अनुभव करा सकता है।
  • चिंता और अवसाद: मोबाइल फोन का अत्यधिक उपयोग चिंता और अवसाद का कारण बन सकता है।
  • आक्रामकता: मोबाइल फोन पर हिंसक वीडियो देखने से बच्चों में आक्रामक व्यवहार बढ़ सकता है।
  • व्यसन: मोबाइल फोन का अत्यधिक उपयोग बच्चों में लत का कारण बन सकता है।

डॉ. गुप्ता ने माता-पिता को सलाह दी कि वे अपने बच्चों के स्क्रीन टाइम को सीमित करें और उन्हें मोबाइल फोन के नकारात्मक प्रभावों के बारे में जागरूक करें।

यहां कुछ सुझाव दिए गए हैं जो माता-पिता अपने बच्चों के स्क्रीन टाइम को कम करने के लिए कर सकते हैं:

  • बच्चों के लिए स्क्रीन टाइम की सीमा निर्धारित करें।
  • बच्चों के लिए स्क्रीन-मुक्त समय निर्धारित करें, जैसे कि भोजन करते समय या सोने से पहले।
  • बच्चों को मोबाइल फोन के बजाय अन्य गतिविधियों में शामिल करें, जैसे कि खेल, किताबें पढ़ना या बाहर खेलना।
  • बच्चों के लिए एक अच्छा रोल मॉडल बनें और खुद भी कम स्क्रीन टाइम का उपयोग करें।

बच्चों का स्वस्थ और सुरक्षित भविष्य हमारी जिम्मेदारी है। हमें उन्हें मोबाइल फोन के खतरों से बचाने के लिए हरसंभव प्रयास करना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *